यूथ कांग्रेस के संगठन चुनाव में कर्मचारियों को पार्टी का सदस्य बनाकर संगठन चुनाव में कराई जा रही है वोटिंग..! पार्टी व विपक्षी नेताओं ने लगाए गंभीर आरोप

Spread the love

बिलासपुर (फील्ड रिपोर्ट.कॉम)। कांग्रेस पार्टी ने इस बार जमीनी मेहनत करने वाले कार्यकर्ताओं को मौका देने के लिए नई रणनीति बनाई थी। ऑनलाईन सदस्यता लेकर अपनी जगह बनाने को लेकर पारदर्शिता का प्रयास किया गया था, जो केवल दिखावा ही साबित हुआ है। इस चुनाव ने कांग्रेस से जुड़कर सदस्यता वाले लोगों को छोड़कर वोटर लिस्ट खोजकर वोट डाले जा रहे हैं। यहां तक कि इस ऑनलाइन चुनाव में पार्टी के अलावा सरकारी कर्मचारियों को भी कांग्रेस का सदस्य बनाकर वोटिंग कराई जा रही है..?

यह सवाल इसलिए पूछना पड़ रहा है, क्योंकि इस बाबत मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी को जिला पंचायत के सभापति अंकित गौरहा द्वारा बकायदा पत्र लिखकर की गई है। इस पत्र में श्री गौरहा ने लिखा है कि उन्हें जानकारी मिली है कि स्वास्थ्य महकमे के कुछ कर्मचारियों और मितानिनों को यूथ कांग्रेस का सदस्य बनाकर मौजूदा चुनाव में उनसे बकायदा ऑनलाइन वोटिंग कराई जा रही है। कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बिलासपुर द्वारा जिला पंचायत के सभापति अंकित गौरहा को प्रेषित एक पत्र में इस आशय की चर्चा की गई है।

इस पत्र में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने श्री गौरहा के द्वारा इस बाबत की गई शिकायत का जिक्र करते हुए लिखा है कि अपनी शिकायत में आपके द्वारा प्रशिक्षक श्री अनंत वैष्णव तथा स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों और मितानिनों को युवक कांग्रेस का सदस्य बनाकर चुनाव में वोटिंग कराए जाने की जानकारी शिकायत मिली की गई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने इस पत्र में लिखा है कि आपके द्वारा बताई गई बातों की सत्यता अगर प्रमाणित होती है। तो उसकी जांच कर ऐसे कर्मचारियों और मिटामिनों के खिलाफ विभागीय जांच एवं अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार सत्ता का बेजा दुरूपयोग कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारी, मितानीन, राशन दुकानों के संचालक, महिला बाल विकास विभाग, आंगन बाड़ी कार्यकर्ता, पशु विभाग, पंचायत विभाग के सचिव, रोजगार सहायक, सोसाएटियों के कर्मचारी आदि अनेक विभाग के कर्मचारियों पर दबाव पूर्वक यूथ कांग्रेस की सदस्यता करवा रहे है। घर-घर पहुॅचकर कर्मचारियों से पार्टी की सदस्यता कराने का भाजपा घोर विरोध करती है।
बेलतरा विधायक रजनीश सिंह ने भी प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर सत्ता का दुरूपयोग करने की निंदा करते हुए कहा कि सरकार यूथ कांग्रेस की सदस्यता कराने के लिए जिस प्रकार शासकीय कर्मचारियों को डरा धमकाकर ऐसे काम करने हेतु मजबूर कर रही है यह इतिहास में कभी नही हुआ। इससे पता चलता है कि गुटीय राजनीति कांग्रेस में कितनी फैली हुई है। कर्मचारियों से पार्टी संगठन के लिए काम लेना घोर निंदनीय है।
बिल्हा जनपद उपाध्यक्ष विक्रम सिंह ने कांग्रेस सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस की हो रही दुर्गती इस घटना से साफ देखा जाता है। पूरे भारत में अब कांग्रेस का कोई सदस्य नही बनना चाहता इसलिए छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री विधायक तक अब यूथ कांग्रेस की सदस्यता हेतु प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों को डरा धमकाकर सदस्यता दिला रहे है जो घोर निंदनीय है जिसका हम विरोध करते है।