कोई कुछ भी बोल देता है कोई गाली दे देता है कोई कॉलर पकड़ लेता है और कोई पैराशूट विधायक कह देता है यह सब घटनाएं अच्छी नहीं है, इससे पार्टी की छवि खराब होती है: विधायक शैलेष पांडेय

Spread the love

बिलासपुर 08 नवम्बर 2021। उपेंद्र त्रिपाठी।।

कुछ दिनों पहले सिविल लाइन थाने में कांग्रेसी नेता के बिलासपुर विधायक शैलेष पांडे को गाली देते हुए एक वीडियो वायरल होने का मामला प्रकाश में आया था। जिसमें कांग्रेसी नेता अकबर खान विधायक शैलेश पांडे और पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव को आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग करते दिखाई दिए थे।

इस मामले को लेकर विधायक शैलेश पांडे के समर्थकों ने एसपी से मुलाकात कर सिविल लाइन थाने में कांग्रेसी नेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। मामले के तूल पकड़ते हैं शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय पांडेय ने पार्टी की ओर से काफी गंभीरता से लेते हुए एक जांच टीम बनाई थी। जिसमें वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राजेश पांडे भुनेश्वर यादव और संध्या तिवारी शामिल हैं, जांच कमेटी को 15 दिनो के भीतर में अपनी रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए हैं। जो इस पूरे मामले की जांच कर अपनी रिपोर्ट सौंपी।

सोमवार को 3 सदस्य जांच कमेटी कांग्रेस भवन में पहुंची। जहां बंद कमरे में दोनों नेताओं से एक के बाद एक कर चर्चा की गई। इस दौरान जांच टीम के सामने विधायक शैलेश पांडे और कांग्रेसी नेता अकबर खान ने अपने अपने पक्षों को रखा है। विधायक शैलेश पांडे ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा मामला और वीडियो सार्वजनिक है और पार्टी को इसपर संज्ञान लेना चाहिए।

उन्होंने कुछ नेताओं पर इशारों में तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि कोई कुछ भी बोल देता है, कोई गाली दे देता है, कोई कॉलर पकड़ लेता है और कोई पैराशूट विधायक कह देता है। यह सब घटनाएं अच्छी नहीं है, इससे पार्टी की छवि खराब होती है। पार्टी हाई कमान और अध्यक्ष को इस पर संज्ञान लेना चाहिए। वहीं कांग्रेसी नेता अकबर खान अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि गाली गलौज वाले वीडियो को एडिट किया गया है और मेरे प्रति दुष्प्रचार किया गया है। विधायक जी मेरे सम्मानीय हैं और उनके प्रति मेरा कोई दुर्भावना नहीं है।

fieldreport