16 नवंबर को आदिवासी गौरव दिवस घोषित करने की पहल, आदिवासी क्षेत्र के बीजेपी नेताओं की राज्यपाल से हुई चर्चा

फील्ड रिपोर्ट बिलासपुर। नए घोषित जिले में बिरसा मुंडा जयंती व डॉ.भंवर सिंह पोर्ते की पुण्यतिथि को आदिवासी गौरव दिवस के रूप में मनाने के लिए प्रयास किया गया है।
इस ओर प्रयास के लिए मरवाही से भाजपा प्रत्यासी अर्चना पोर्ते और जिला पंचायत सभापति शंकर कंवर ने राज्यपाल सुश्री अनुसूया उइके से मुलाकात की।

इस दौरान नए जिले के रूप में अस्तित्व में आने वाले गौरेला, पेंड्रा और मरवाही में आगामी 16 नवम्बर 2019 को आदिवासी गौरव दिवस मनाने सहमति पर चर्चा हुई। बीजेपी नेताओं ने आदिवासी के महानायक बिरसा मुंडा को सम्मान को सम्मान दिलाने पहल की। सभापति शंकर कंवर ने बताया कि इसके साथ ही राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नंदकुमार साय की भी मौखिक सहमति मिली है। इसके अतिरिक्त पांचवी अनुसूची के विषय, पेशा कानून को मजबूत बनाने के साथ वनाधिकार कानून के बारे में संशोधन पर भी चर्चा हुई।

Related posts