प्रयास बालिका विद्यालय का कलेक्टर ने किया औचक निरीक्षण, एक सप्ताह के भीतर व्यवस्था सुधारने का निर्देश


बिलासपुर। प्रयास आवासीय बालिका विद्यालय का निरीक्षण करने के बाद कलेक्टर डॉ. संजय अलंग ने वहां खान-पान व अन्य व्यवस्थाओं में सुधार लाने का सख्त निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिया है।
कलेक्टर डॉ. अलंग ने आज जरहाभाठा स्थित प्रयास आवासीय बालिका विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। वे सबसे पहले किचन में गये और वहां तैयार भोजन को देखा। भोजन को देखकर उन्होंने छात्राओं को बुलाया और उनसे भोजन की गुणवत्ता के बारे में जानकारी ली। छात्राओं ने बताया कि उन्हें भोजन ठीक से नहीं मिलता और गुणवत्ता भी खराब है। कलेक्टर ने मेनू चार्ट के बारे में पूछा, तो वह उपलब्ध नहीं था। छात्राओं ने बताया कि उन्हें मेनू के अनुसार खाना नहीं मिलता है। कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारी पर सख़्त नाराजगी जताई।
कलेक्टर ने स्टोर रूम में जाकर वहां रखी खाद्य पदार्थों को देखा। वहां पर व्याप्त गंदगी को देखकर उन्होंने फिर नाराजगी जताई। उपस्थित सहायक आयुक्त, आदिवासी विकास और छात्रावास के प्रशासनिक अधिकारी को तत्काल व्यवस्था सुधारने का निर्देश दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि एक सप्ताह में व्यवस्था नहीं सुधरती तो जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने छात्राओं को आश्वस्त किया कि उन्हें अब से अच्छा मिलेगा। छात्राओं की मांग पर कलेक्टर ने रोटी को भी मेनू में शामिल करने का निर्देश दिया, जो उनके मेनू में अभी तक नहीं था।
कलेक्टर को छात्राओं ने यह भी बताया कि उन्हें अभी तक पाठ्य पुस्तकें नहीं मिली हैं। कलेक्टर ने प्रशासनिक अधिकारी से इसका कारण पूछा तो बताया कि तकनीकी दिक्कत के कारण किताबें आबंटित नहीं हो पाई है। कलेक्टर ने तुरंत फोन लगाकर सम्बन्धित अधिकारियों से बात की। इसके बाद उन्होंने छात्राओं को बताया कि कल तक उन्हें पाठ्य-पुस्तकें भी उपलब्ध करा दी जायेंगी। कलेक्टर ने छात्राओं के मनोरंजन के लिए इनडोर गेम्स की व्यवस्था करने का निर्देश भी दिया।
0-0-0-0
प्रयास बालिका विद्यालय में सेनेटरी पैड वेंडिग मशीन सुपुर्द किया कलेक्टर ने
बिलासपुर, 2 अगस्त 2019। कलेक्टर डॉ. संजय अलंग ने आज जरहाभाठा स्थित शासकीय प्रयास बालिका आवासीय विद्यालय को सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन सुपुर्द किया। यह मशीन अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन द्वारा प्रदान की गई है। इस मशीन में पांच रुपये का सिक्का डालकर दो नैपकीन लिये जा सकते हैं।
कलेक्टर डॉ. अलंग ने इस अवसर छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस तरह हम खाना खाने के लिए हाथ धोते हैं, उसी तरह पीरियड्स में साफ-सफाई रखना आवश्यक है। इसके लिए साफ पैड का उपयोग करना चाहिए। इस मशीन में हमेशा जरूरत के अनुसार पैड उपलब्ध रहेगा। उन्होंने हाइजिन और साफ-सफाई के महत्व के बारे में बताया। आप सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी यहां कर रहे हैं। आप स्वस्थ रहेंगे तभी तैयारी अच्छी तरह से हो सकेगी। स्वस्थ रहने के लिए हाइजिनिक रहना जरूरी है।
संस्था की अध्यक्ष उमा छापरिया व सचिव मधु बगड़िया और सम्मेलन के अन्य सदस्य इस मौके पर उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि संस्था ने आंगनबाड़ी केन्द्र सलका (कोटा), सरस्वती शिशु मंदिर सरकंडा, शासकीय पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास, जरहाभाठा में भी ऐसी वेंडिंग मशीन लगाई हैं।

Related posts