हरेली तिहार पर भव्य आयोजन होगा, बिलासा कला मंच ने की तैयारी।


बिलासपुर। छत्तीसगढ़ की संस्कृति,साहित्य,कला और पर्यावरण के संरक्षण,सवर्धन के लिए विगत 30 वर्ष से सतत क्रियाशील बिलासा कला मंच की कल हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि 1अगस्त को छत्तीसगढ़ की प्रथम पर्व हरेली तिहार को पारम्परिक रूप से आयोजित किया जायेगा जिसमें सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ गेड़ी दौड़ प्रतियोगिता और नारियल फेक प्रतियोगिता आयोजित होगी। वहीं पूजा अर्चना के बाद नदी किनारे वृक्षारोपण किया जाएगा। समारोह में विभिन्न क्षेत्रो में समाज उत्थान में सतत क्रियाशील प्रबुद्ध जनों का सम्मान तथा प्रसाद वितरण के साथ समारोह का समापन होगा।


बैठक में नवीन सदस्यता अभियान चला कर लोगो को जोड़ने और संगठन विस्तार पर भी निर्णय लिया गया।
कल हुई बैठक में संस्थापक डॉ सोमनाथ यादव, डॉ सुधाकर बीबे, राघवेन्द्र धर दीवान, राजकुमार गिरि, अजय शर्मा, देवानंद दुबे, रामेश्वर गुप्ता,अश्वनी पांडेय, सुनील तिवारी, महेश श्रीवास, सुधीर दत्ता,ओमशंकर लिबर्टी, ध्रुव देवांगन, एम डी मानिकपुरी, रमाकांत सोनी, रामचरण यादव, बद्री कैवट,सहदेव कैवट, उमेन्द्र यादव,शंकर यादव,संजय कुमार, छुट्टू अवस्थी,धरमवीर साहू,लालजी श्रीवास आदि सदस्यगण उपस्थित रहे।

Related posts