स्व डॉ खूब चन्द बघेल की 120 वीं जयंती कांग्रेस भवन में मनाई गई ,उनके छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उनके योगदान को याद की गई ।

बिलासपुर। ज़िला कांग्रेस और शहर कांग्रेस द्वारा संयुक्त रूप से स्व डॉ खूब चन्द बघेल की 120 वीं जयंती कांग्रेस भवन में मनाई गई ,उनके छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उनके योगदान को याद की गई । वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीश तिवारी,कार्यक्रम के संयोजक सैय्यद ज़फ़र अली और रिटायर्ड आई ए एस एस एल रात्रे ने कहा कि पृथक छत्तीसगढ़ राज्य के स्वप्नद्रष्टा और प्रणेता ,स्वतंत्रता सेनानी डॉ खूब चन्द बघेल जी ,जिन्होंने छत्तीसगढ़ को कला,संस्कृति ,सामाजिक तानाबाना ,और राजनितिक रूप से एक सशक्त प्रदेश में देखना चाहते थे ,इसलिए पृथक राज्य की मांग सी पी बरार के विधानसभा में अशासकीय विधेयक लाये। स्व बघेल छोटे से गांव पथरी से प्रारम्भ कर डॉक्टर की पढ़ाई ,स्वतंत्रता की लड़ाई ,जेल यात्रा ,विधान सभा ,राज्य सभा के सदस्य और संसदीय मंत्री तक की सफर तय किये ।

भातृसंघ की स्थापना कर 1967 में बड़ा आंदोलन कर अलग राज्य की मांग को दृढ़ता प्रदान की ,समय के साथ काम का बोझ और कुछ कर गुजरने की चाहत को आयु की ब्रेक रोकने के लिए आतुर था और 22 फरवरी 1969 को डॉ साहब का निधन हो गया ।
कार्यक्रम को ऋषि पांडेय,अनिल सिंह चौहान,ब्रजेश साहू,हेमन्त दृघस्कार ने भी सम्बोधित किये ।
कार्यक्रम में माधव ओतालवार,विनोद शर्मा,त्रिभुवन कश्यप,जसबीर गुम्बर,विनोद साहू,अजय यादव,आशा सिंह,मोह हाफिज,सुभाष ठाकुर, सुभाष सराफ,मनोज शर्मा,कमलेश लावहात्रे,गोवर्धन श्रीवास्तव,पूना कश्यप,भरत जुरयानी,करम गोरख,अजय पन्त,अनिल पांडेय,अन्नपूर्णा यादव,राजेश शर्मा,राजेश यादव, रमेश यादव,दिनेश यादव,चतुर सिंह,मोहसिन खान,सुनील लकड़ा,अतहर खान,सालिक यादव,सचिन सराफ आदि उपस्थित थे ।

Related posts