मोदी लहर में भी चुनाव जीत गया रेप का आरोपी, बसपा से मिला था टिकट

अतुल राय पर रेप के आरोप लगे हैं और वो कई दिनों से फरार चल रहे हैं. यूपी कॉलेज की एक पूर्व छात्रा ने आरोप लगाया है कि पत्नी से मिलाने के बहाने अतुल राय उनका अपने घर ले गए और वहां मौके का फायदा रेप किया. पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया है कि अतुल राय ने उन्हें किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी.

घोसी लोकसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी अतुल राय ने जीत हासिल की है.

घोसी लोकसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी अतुल राय ने जीत हासिल की है.

उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी अतुल राय ने जीत हासिल की है. उन्होंने भाजपा उम्मीदवार सांसद हरिनारायण राजभर को 1,22,018 मतों से हराया. अतुल राय की जीत के बाद बसपा कार्यकताओं ने जश्न तो मनाया, लेकिन इस जश्न में अतुल राय नजर नहीं आए.

दरअसल, अतुल राय पर रेप के आरोप लगे हैं और वो कई दिनों से फरार चल रहे हैं. यूपी कॉलेज की एक पूर्व छात्रा ने आरोप लगाया है कि पत्नी से मिलाने के बहाने अतुल राय उनको अपने घर ले गए और वहां मौके का फायदा उठाकर रेप किया. पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया है कि अतुल राय ने उन्हें किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी.

छात्रा की शिकायत पर न्यायिक मजिस्ट्रेट ने अतुल राय की गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं. लेकिन तब से वो फरार चल रहे हैं. यहां तक कि अतुल राय जमानत के लिए हाई कोर्ट गए लेकिन उन्हें जमानत नहीं मिली.

चुनाव प्रचार में आ रहे थे दिग्गज…

बसपा नेता अतुल राय पर भले ही रेप के आरोप लगे हों, लेकिन उनके ना होते हुए भी चुनाव प्रचार में कई दिग्गज नेता पहुंचे. यहां तक कि अतुल सिंह के बचाव में मायावती भी उतरी थीं. उन्होंने कहा था कि उनके उम्मीदवारों को बदनाम करने के लिए बीजेपी साजिश कर रही है.

देखा जाए तो उत्तर प्रदेश में बीएसपी और एसपी का जातीय समीकरण अतुल सिंह के पक्ष में दिखाई दे रहा था. क्योंकि घोसी सीट पर करीब 3.5 लाख जाटव और दो लाख यादव हैं और चार लाख सवर्ण और अन्य गैर जाटव-दलित जातियां भी हैं. इसके कहा जा रहा था कि जातीय समीकरण को देखते हुए इस सीट पर गठबंधन के प्रत्याशी को बड़ा समर्थन मिलना तय था.

पुलिस ने की थी छापेमारी…

बता दें कि बसपा नेता अतुल सिंह को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस उनके घर पर कई बार छापेमारी कर चुकी है, लेकिन उनका पता नहीं चल सका है. बताया जाता है कि बसपा से टिकट मिलने के बाद अतुल सिंह चुनाव प्रचार करते रहे लेकिन कुछ दिन बाद ही वो ‘गायब’ हो गए.

क्या है पूरा मामला?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अतुल पर अप्रैल में वाराणसी में पढ़ने वाली एक छात्रा ने आरोप लगाया है कि अतुल राय अपनी पत्नी से मिलाने का बहाना करके छात्रा को घर ले गए और वहां उसके साथ दुराचार किया. अतुल राय ने इन आरोपों का खंडन किया लेकिन 1 मई को केस दर्ज कर लिया गया.

Related posts