भ्रष्ट अधिकारियों को नहीं है किसी का डर। जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने खुद को बताया भ्रष्टाचार दूर कर पाने में पूरी तरह असमर्थ।

बिलासपुर।। छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी है कि विभागीय अधिकारी भी अब इसे ठीक कर पाने में खुद को असमर्थ पाते हैं। इतना ही नहीं सबसे बुरी हालत स्वास्थ्य विभाग की है जहां खुद जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने यह मान लिया कि, अपने ही विभाग में पहली अवस्था और भ्रष्टाचार को ठीक कर पाना उनके लिये असंभव है। इनकी माने तो उन्हें अब बिलासपुर स्वास्थ्य विभाग और विशेषकर जिला मुख्यालय में सुधार की कोई गुंजाइश नजर ही नहीं आ रही है। आलम ये है कि, अब मीडिया के सामने ऐसा बयान देने से भी अधिकारी जरा भी परहेज़ नहीं करते।

मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मधूलिका की माने तो, उनके विभाग में भ्रष्टाचार की जड़ इतनी गहरी है कि उनकी पूरी जिंदगी निकल जाएगी उसे खोदने और ठीक करने में।

 

गौरतलब है बिलासपुर स्वास्थ्य विभाग में पिछले दिनों एन्टी क्रप्शन ब्योरो ने एक भ्रष्ट अधिकारी डॉ अविनाश खरे को रंगे हाथों ₹50000 की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया था । इसके बाद से जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने लगातार विभाग में मौजूद ऐसे अधिकारियों को चिन्हांकित कर निर्देश देने का काम किया। जिनकी संलिप्तता भ्रष्टाचार को बढ़ाने में थी। लेकिन मुख्य जिला स्वास्थ्य अधिकारी होने के बावजूद भी उनका नियंत्रण अपने ही विभाग अधीनस्थ कर्मचारी और अधिकारियों पर नहीं है। लिहाजा सीएचएमओ को बकायदा पत्र लिखकर यह सूचित करना पड़ा कि अगर विभाग में कोई अधिकारी या कर्मचारी भ्रष्टाचार की गतिविधियों में लिप्त पाया जाएगा तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी । इन सब के बावजूद भी ऐसे अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगी ।

इसका सबसे बड़ा उदाहरण दिया है कि जैसे ही विभाग झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई के लिए निकलता है। उनके पहुचने से पहले ही झोलाछाप डॉ क्लीनिक पर ताला लगाकर गयाब हो जाते हैं। क्योकि इन्हें पहले ही डिपार्टमेंट से सूचना पहुंच जाती है। इसके एवज में भ्रष्ट अधिकारी ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों से मोटी रकम भी लेते हैं ।।सरकारी नौकरी करते हुए इस तरह की सेवा देने के एवज में भ्रष्ट अधिकारियों को ऊपरी कमाई हो जाती है वहीं विभाग के आला अधिकारियों का मनोबल अब धीरे-धीरे ऐसी परिस्थितियों में टूटने लगा है ऐसे में भला कैसे किसी सरकारी विभाग से भ्रष्टाचार को पूरी तरह समाप्त किया जा सकेगा।

Related posts