जिला निर्वाचन अधिकारी की मौजूदगी में किया गया मॉक ड्रिल। सैकड़ों पुलिस जवान और जिला प्रशासन के अधिकारी हुए शामिल।

बिलासपुर।। बीती शाम विधानसभा चुनाव से पहले शहर के कलेक्टर ने पुलिस जवानों के साथ भ्रमण कर व्यवस्था का जायजा लिया। बिलासपुर विधानसभा क्षेत्र कई मायनों में महत्वपूर्ण है ।चुनावी समर में निर्वाचन से पहले की व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन पर होती है। लिहाजा इन दिनों बिलासपुर शहर में लगातार पुलिस और जिला प्रशासन की टीम मॉक ड्रिल करते हुए नजर आते हैं ।

इसी कड़ी में शनिवार शाम बिलासपुर कलेक्टर पी दयानंद शहर के एसपी और दूसरे तमाम बड़े पुलिस अधिकारी और जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियों की मौजूदगी में जागरूकता के लिए कैंडल मार्च निकाला गया। वहीं परंपरा के अनुरूप व्यवस्थित ढंग से शहर के तकरीबन सभी प्रमुख सड़कों और चौराहों से पुलिस बल मार्च करते हुए गुजरी। बड़ी संख्या में पुलिस के जवान और चुनाव ड्यूटी में तैनात जवान मार्च करते सायरन बजाते हुए गुजरे इस बीच लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील करते हुए अपने मताधिकार के प्रयोग करने पर भी जोर दिया गया। करीब 1500 जवानों चुनाव ड्यूटी में तैनात किया गया है निर्वाचन क्षेत्र और उसके आसपास में सुरक्षा और दूसरी तमाम व्यवस्थाओं पर कड़ी नजर है। जिला प्रशासन ने अपनी तरफ से हर बिंदु पर नजर रखी है शहर के प्रमुख चौक चौराहों में पहले ही सीसीटीवी कैमरे और पुलिस के जवान पर्याप्त मात्रा में तैनात किए गए हैं। वहीं प्रचार-प्रसार के शोर के थमने से पहले जिला प्रशासन ने हर वार्ड और हर पार्टी की गतिविधियों पर विशेष फोकस किया है । इतना ही नहीं शहर के तकरीबन सभी प्रमुख अखबार और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर भी नजर रखी जा रही है। अलग अलग राजनीतिक दल के प्रत्याशी और पार्टी के शीर्ष नेताओं के कार्यक्रम पर भी सुरक्षा और निगरानी रखी जा रही है शहर के तकरीबन हर प्रमुख सड़कों पर मॉक ड्रिल किया जा रहा है इस तरह से आम लोगों में संदेश पहुंचाया जा रहा है कि व्यवस्था पूरी तरह से नियंत्रण में है और लोकतंत्र के सबसे बड़े पर्व अर्थात मतदान के लिए पूरी व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई है।

Related posts