नेत्रदान: दुनिया से बिदा होकर भी देवेन्द्र रौशन कर गए दो लोगों की जिन्दगी

रायपुर.राजधानी रायपुर के नजदीक निमोरा स्थित छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी के अधीक्षक रहे देवेन्द्र साव दुनिया से बिदा लेकर भी अपनी दोनों आंखों से दो लोगों की जिन्दगी को रौशन कर गए। स्वर्गीय श्री साव की आंखें उनके परिजनों द्वारा आज यहां मेडिकल काॅलेज से सम्बद्ध अम्बेडकर अस्पताल को दान कर दी गई, जिन्हें दो जरूरतमंद नेत्रहीनों को प्रत्यारोपित भी कर दिया गया। नेत्रदान की यह प्रक्रिया स्वर्गीय श्री साव के छोटे भाई डाॅ. धीरेन्द्र साव के अस्पताल में अम्बेडकर अस्पताल की टीम के द्वारा पूरी की गई। ज्ञातव्य है कि देवेन्द्र साव का कल सवेरे राजधानी स्थित अपने निवास में अचानक निधन हो गया था। वे मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग के पूर्व सदस्य स्वर्गीय जीवन लाल साव के सुपुत्र थे। स्वर्गीय देवेन्द्र साव का पार्थिव शरीर रायपुर से उनके गृह ग्राम बिराजपाली (जिला-महासमुन्द) ले जाया गया, जहां अंत्येष्टि में बड़ी संख्या में ग्रामीणों, उनके परिजनों और मित्रों द्वारा उन्हें अश्रुपूरित नेत्रों से अंतिम बिदाई दी गई।

Related posts