मिजल्स-रुबेला टीकाकरण के लिए महाअभियान 6 अक्टूबर से  राज्य में 85 लाख बच्चों का होगा टीकाकरण स्वास्थ्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए  की तैयारी की समीक्षा

रायपुर, 20 प्रदेश  के 85 लाख बच्चों को 6 अक्टूबर से मिजल्स एवं रूबेला के टीके लगाने के लिए महा अभियान चालाया जाएगा। यह अभियान 19 दिसंबर 2018 तक चलेगा। स्वास्थ्य सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह ने आज यहां महानदी भवन मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अभियान के बेहतर क्रियान्वयन के लिए ब्लॉक व ग्राम स्तर पर कार्ययोजना तैयार कर लें। जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर अंतर्विभागीय समन्वय बैठक आयोजित की जाए। कलेक्टर की अध्यक्षता में शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायती राज संस्था और आदिम जाति कल्याण विभाग व अन्य विभाग के अधिकारियों के साथ समन्वय कर माइक्रोप्लान तैयार कर लिया जाए।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में संचालक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे ने कहा कि निजी स्कूलो में पैरेंट्स टीचर मीटिंग में अभियान के इस संबंध में सम्पूर्ण जानकारी दी जाए। उन्होंने कहा कि जिला व विकासखंड के चिकित्सा अधिकारियांे का प्रशिक्षण निर्धारित तिथि के अनुसार पूर्ण किया जाए। उन्होंने कहा कि टीकाकरण दिवसों की जानकारी संबंधित विद्यालयों में 3 अक्टूबर तक सूचित किया जाए।
प्रचार-प्रसार सामग्री विद्यालयों व शहरी क्षेत्रो तथा ग्रामो में वितरण कर प्रदर्शनी लगायी जाए। अभियान के सफल संचालन व जागरुकता लाने के लिए विकासखंड स्तर तक अभियान के पूर्व मीडिया को सम्पूर्ण जानकारी देते हुए ब्रीफिंग किया जाए। इस अभियान के दौरान नियमित टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जाएगा। छूटे हुए बच्चों का भी टीकाकरण किया जाए। छत्तीसगढ़ के शासकीय स्कूल, निजी स्कूल व आंगनबाड़ी केन्द्रों के लाखों बच्चों इस अभियान के तहत करीब 85 लाख बच्चों को टीके लगाए जाएंगे। नवजात शिशु एवं बाल मृत्यु रोकने के लिये स्वास्थ्य विभाग द्वारा सतत् प्रयास किये जा रहे हैं। वर्ष 2003 में शिशु मृत्यु दर 70 प्रति एक हजार जीवित जन्म से कम होकर वर्ष 2017 में 39 प्रति एक हजार जीवित जन्म हो गया है। यह आंकडे़ एसआरएस 2016 के सर्वे रिपोर्ट में प्राप्त हुये हैं। इस अवसर पर राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अमर सिंह ठाकुर, यूनिसेफ के मनीष तथा विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts