कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने महिला कांग्रेस का बढ़ाया मनोबल, नेताप्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने भी बूथ स्तर में महिलाओं को मजबूत करने पर बल दिया।

Spread the love

बिलासपुर।। छत्तीसगढ़ अपनी राजनीतिक हलचल और नक्सली गतिविधियों के कारण  हमेशा सुर्खियों में बनी रहती है। वही छत्तीसगढ़ की राजनीति अब छोटे शहरों और कस्बों तक पहुंच गई।  बीते दिनों बिलासपुर हुए लाठीचार्ज की वजह से अचानक से इस शहर में प्रदेश कांग्रेस के तमाम बड़े नेता और पदाधिकारी आने लगे हैं । इसी कड़ी में असम की सांसद और राष्ट्रीय कांग्रेस के कद्दावर नेता सुष्मिता देव बिलासपुर शहर पहुंची।

उन्हीं के साथ प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया जैसे तमाम बड़े नेता भी बिलासपुर पहुंचे गौरतलब है कि 18 सितंबर को पुलिस ने बर्बरतापूर्वक कांग्रेसियों को लाठियों से पीटा था इस घटना के बाद कई घायल कांग्रेसी अब तक अस्पताल में है वही कसम की सांसद सुष्मिता देव ने पेन से मुलाकात की प्रदेश की राजनीतिक हलचल और उठापटक के बीच निष्ठावान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की तारीफ करते हुए सुष्मिता ने इन्हें ही पार्टी की असली ताकत बताया दरअसल सुष्मिता देव राष्ट्रीय महिला कांग्रेस की ओर से आयोजित महिला सभा में सम्मिलित होने पहुंची थी उन्होंने महिला सभा को संबोधित करते हुए अपने विचार बड़े ही प्रभावशाली ढंग से रखें इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंह देव नेवी महिला संगठन और उसमें काम करने वाली महिला कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने बड़े ही सरल और सहज तरीके से अपनी बात रखी उन्होंने बूथ स्तर पर काम करने वाली महिलाओं को तैयार करने पर जोर दिया वही प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने भी बीते दिनों हुए घटना और राजनीतिक उथल पुथल के बीच इस बात का विश्वास दिल आया की आगामी विधानसभा में ज्यादातर सीटों में की ही जीत होगी क्योंकि प्रदेश की वर्तमान बीजेपी सरकार  अब एक दमनकारी सरकार बन चुकी है जिसे जनता बेहतर समझती है यही कारण है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बढ़त मिलेगी और छत्तीसगढ़ में अगली सरकार कांग्रेस की होगी। प्रदेश कांग्रेस के बड़े नेताओं ने पूरे दिन कई कार्यक्रमों में शिरकत की। सबसे पहले उन्होंने टिकरापारा के गुजराती भवन में आयोजित सभा को संबोधित किया।  वही उसके बाद बीते दिनों हुए लाठीचार्ज के विरोध में सिविल लाइन थाना के बाहर धरना स्थल के करीब प्रदर्शन भी किया । इतना ही नहीं इस दौरान कांग्रेस भवन में आयोजित विशाल महिला सम्मेलन को भी कांग्रेस के बड़े नेताओं ने संबोधित करते हुए अपने राजनीतिक लक्ष्य के बारे में स्पष्ट संदेश दिया। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया इस बात पर जोर देते रहे की अगर प्रदेश कांग्रेस के छोटे बड़े तमाम नेता और पदाधिकारी एक साथ मिलकर प्रयास करें तो यह संभव है कि साल 2018 में विधानसभा चुनाव के परिणाम कोंग्रेस के हक में आए उन्होंने साल 2013 के चुनाव परिणामों पर चर्चा करते हुए साफ-साफ कहा कि छत्तीसगढ़ में अगली सरकार उन्हीं की होगी।

Related posts