आधी रात को nsui ने की मदद, पानी, बिस्किट्स और मच्छर अगरबत्तियां दी युवाओं को।

हमेशा छात्रों के हित में काम करने वाली एनएसयूआई ने  इस बार बेरोजगार युवाओं की सुध ली है  एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में ऐसे बेरोजगारों की मदद करने का प्रयास किया है जिन्होंने अपने बेहतर भविष्य के लिए वायु सेना में होने वाली भर्ती अभियान में हिस्सा लेने का निर्णय लिया है मध्य रात्रि तकरीबन 2:00 बजे एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने इन युवाओं को खाने पीने के सामान और पानी के पाउच इत्यादि दिए

साथ ही उन्हें वायु सेना में होने वाली भर्ती के लिए शुभकामनाएं भी दी काफी युवाओं ने एनएसयूआई के इस प्रयास की सराहना की वही खुद एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने इस तरह के कार्यक्रम को आगे भी जारी रखने का निर्णय लिया है जहां एक और उन्होंने युवाओं से मदद और सहयोग करते रहने का वादा लिया है वही राज्य सरकार की अवस्था और दमनकारी नीतियों का खुलकर विरोध करेंगे इसके लिए उन्होंने इन बेरोजगार युवाओं को एनएसयूआई से जुड़ने और उनके साथ काम करने की अपील भी की।

N s u i के बड़े नेताओं और कार्यकर्ताओं की माने तो , रायपुर में कल होने वाली वायु सेना की भर्ती में हज़ारों छात्र विभिन्न दूर जिलों से पहुँचे थे । दुर्भाग्यपूर्ण भर्ती हेतु छात्रों के लिए ना तो रहने सोने की व्यवस्था, ना खाने ना पीने के पानी की व्यवस्था राज्य शाशन के द्वारा की गई थी एक तरफ़ भारतीय जनता पार्टी रमन सिंग की दमन कारी सरकार युवाओं की बात करती है लेकिन आज रात को 2 बजे युवा छात्र भूख प्यास से परेशान और खुले मैदान सड़क में मजबूर थे उनकी मदद के लिए ना कोई सरकारी कर्मचारी मौजूद ना ज़िम्मेदार अधिकारी परेशान छात्रों के बीच NSUI के साथियों द्वारा आधी रात को भूखे छात्रों को बिस्कुट, पानी और मच्छर अगरबत्ती का वितरण किया गया ।। हर बार सेना और पुलिस के बड़े भर्ती अभियान में ऐसे ही भीड़ देखने को मिलती है।

छत्तीसगढ़ के कोने-कोने से बेरोजगार युवा बड़ी संख्या में ऐसे भर्ती अभियान में शामिल होते हैं अपने घर से हजारों किलोमीटर दूर इन युवाओं के आंखों में अपने बेहतर भविष्य के सपने होते हैं लेकिन उनके सामने कई तरह की चुनौतियां भी होती हैं अक्सर इन चुनौतियों के कारण इन युवाओं को अपने भविष्य से समझौता करना पड़ता है अव्यवस्था और परेशानियों के कारण अवसर मिलने के बावजूद लिए बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते यही कारण है कि बीते कुछ सालों से बेरोजगार युवाओं में पुलिस और सेना में भर्ती होने की इच्छा ज्यादा बढ़ गई है यहां किसी दूसरी नौकरी क्या सरकारी जॉब की अपेक्षा कम चुनौतियां होती हैं लेकिन फिर भी अपने घरों से दूर इन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है ऐसे में अगर एनएसयूआई ने इनकी मदद की है तो जाहिर सी बात है इन्हें थोड़ी सी मदद बड़ी राहत पहुंचा सकती है अपने उज्जवल भविष्य के लिए इनका परिश्रम सार्थक हो सकता है और इसमें एक छात्र संगठन ने आज अपनी छोटी मगर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Related posts